जबलपुर। कलेक्टर दीपक सक्सेना की अध्यक्षता में सोमवार को रबी उपार्जन के संबंध में सभी संबंधित अधिकारियों की बैठक आयोजित की गई। जिसमें उन्होंने कहा कि उपार्जन सही ढंग से हो, इसमें लापरवाही बिल्कुल बर्दाश्त नहीं की जायेगी, यदि कहीं गड़बड़ी होती है, तो संबंधित अधिकारियों के विरूद्ध सख्त अनुशासनात्मक कार्यवाही की जायेगी। बैठक में सभी खरीदी केन्द्रों की मैपिंग की गई और मझौली तथा पनागर में कुछ खरीदी केन्द्र स्वसहायता समूह द्वारा संचालित करने को कहा।
कलेक्टर सक्सेना ने कहा कि किसी भी गोदाम में जहां खरीदी होगी वहां से परिवहन नहीं होगा। इस बार गोदामों की क्षमता को देखते हुये स्लॉट बुकिंग होगी और उतनी ही गेहूं खरीदी जायेगी, जितनी गोदामों की क्षमता है। किसान को अपने गेहूं बेचने के लिये पास के गोदामों में स्लॉट बुकिंग करना होगा। कलेक्टर ने इस दौरान खाली और भरे गोदामों की जानकारी के साथ खरीदी के तहसीलवार जानकारी लेकर निर्देश दिये कि अधिकारी फील्ड में अपनी पहुंच बनायें। किसान अपनी उपज को बेचने के लिये स्लॉट बुक करायें, बिना स्लॉट बुकिंग के कोई भी किसान अपनी फसल बेचने के लिये न आयें। स्लॉट बुकिंग खरीदी शुरू होने के 7 दिन पूर्व से शुरू हो जायेगी। उन्होंने कहा कि किसान खरीदी केन्द्र में साफ सुथरा गेहूं ही लायें। यदि फसल कचरा युक्त या अमानक है, तो उसे संबंधित किसान को साफ
कराना होगा। फसल की सफाई में जो लागत आयेगी वह राशि किसान को सोसायटी के खाते में जमा करनी होगी। सोसायटी फिर सफाई वेंडर को वह राशि अंतरित करेगी। उन्होंने कहा कि रबी उपार्जन के सुचारू रूप से संचालन के लिये जिला स्तरीय कंट्रोल रूम बनाने के निर्देश दिये।

administrator, bbp_keymaster

Related Articles