जबलपुर। नगर निगम कर्मचारियों के विभिन्न संगठनों ने अपनी मागों पर विचार कर उन्हें मनवाने के लिए नगर निगम जबलपुर में एक दिवस की हड़ताल कर की। इस बीच समस्त कर्मचारियों के सामने समूह को महापौर द्वारा अपर आयुक्त मानवेंद्र सिंह के उपस्थिति में 19 बिंदुओं पर चर्चा की।

जिसपर महापौर द्वारा 38 दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों के नियमितीकरण के आदेश जारी किए जाने, बरसों से रुके रिटायर्ड कर्मचारियों के उपादान की राशि शीघ्र दिए जाने 15 कर्मचारियों की विभागीय जांच समाप्त किए जाने के निर्देश प्रशासनिक अधिकारियों को दिए। साथ ही उन्होंने कहा जो प्रादेशिक स्तर की मांगे हैं, जैसे समस्त विनियमित सामुदायिक संगठन संविदा कर्मचारी व कंप्यूटर ऑपरेटर के पदों का सृजन, चुंगी क्षतिपूर्ति की अघोषित कटौती बंद किया जाना, समयमान वेतनमान 2,800 दिए जाने जैसी मांगों को लेकर महापौर संगठन के कुछ पदाधिकारियों के साथ नगरी प्रशासन विभाग पीएस और मप्र शासन सीएस के द्वारा समस्याओं के सामाधान हेतु चर्चा किए जाने की बात की।

इसी कार्यक्रम में भोपाल में संचालनालय के घेराव के दौरान प्रशासन आयुक्त नगरी प्रशासन द्वारा एक सितंबर 2016 तक के सभी संभागों के दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों का नियमितीकरण किया जाना, सामुदायिक संगठनों को नियमित किया जाना जैसी 19 बिंदुओं का निराकरण हेतु 3 अगस्त को संचनालय भोपाल में बैठक के लिए बुलाया गया है। संगठन ने चेतावनी दी है कि 3 तारीख को बैठक में भी आदेश पारित नहीं होते हैं, तो संगठन काम बंद हड़ताल के लिए बाध्य होगा। जिसकी संपूर्ण जवाबदारी प्रशासन की होगी।

तकनीकी अधिकारी कर्मचारी संघ मप्र नगरनिगम नगरपालिका कर्मचारी संघ के प्रांतीय सचिव पं. राम दुबे, प्रांतीय संगठन सचिव कपिल दुबे, मप्र तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ संरक्षक पं. योगेन्द्र दुबे, अजाक्स के निगम इकाई अध्यक्ष राकेश समुंद्रे, फील्ड वर्कर फेडरेशन के अध्यक्ष केके दुबे, कर्मचारी कॉरपोरेशन फेडरेशन के अध्यक्ष विजय दुबे, अनुराग पाठक, मप्र नगरनिगम नगर पालिका कर्मचारी संघ के जिला अध्यक्ष पं. अनिल तिवारी, इकाई अध्यक्ष करण पटेल, सचिव मुकेश रजक, जिला सचिव बसंत पांडे सहित समस्त जनों के नियमित विनय मित्र, दैनिक वेतन भोगी कंप्यूटर ऑपरेटर सामुदायिक संगठन, सफाई संरक्षक आदि कर्मचारी सभी सम्मिलित थे।

administrator, bbp_keymaster

Related Articles