◆ एसपी से शिकायत के बाद भी चोरी करने वाले अज्ञात युवक के विरुद्ध नहीं हुआ मामला दर्ज

डिंडौरी (रामसहाय मर्दन)।कोतवाली थाना अंतर्गत ग्राम कंचनपुर निवासी प्यारेलाल मौहारी ने मोटरसाईकिल से एक लाख रुपये चोरी होने की शिकायत कोतवाली थाना में किया गया था। इसके साथ ही अज्ञात लोंगो के द्वारा चोरी किये गये पूरी घटना की सीसी टीवी फुटेज,वीडियो अवगत कराया गया था। लेकिन 02 महीने से ज्यादा समय बीत जाने के बाद भी पुलिस के द्वारा चोरी करने वाले के विरूध्द मामला दर्ज नही किया गया है। आवेदक ने शिकायत में उल्लेख किया है कि 25 मई 2022 को जिला सहकारी बैंक डिंडौरी से एक लाख रू निकाला था,जिसे मोटरसाईकिल के डिक्की में रखकर पुरानी डिंडौरी स्थित वार्ड क्रं 12 में पाठक ट्रेक्टर दुकान के पीछे रिस्तेदार के यहां रामकीर्तन कार्यक्रम में शामिल होने गया था। आवेदक ने मोटरसाईकिल समेत राशि को बाहर छोड़कर घर के अंदर चला गया,कार्यक्रम के बाद लगभग 4 बजे घर जा रहा था,कि अचानक राशि चोरी हो जाने का शक हुआ,तो उन्होंने पेट्रोल पंप के पास चैक किया तो पूरी राषि गायब हो चुका था। आवेदक ने बताया कि पेट्रोल पंप से तत्काल जिस स्थान में रामकीर्तन हो रही थी वंहा जाकर सीसी टीवी फुटेज चैक किया तो चोरी की पूरी घटना कैमरा में कैद हो गया है।जिसके बाद कोतवाली थाना में षिकायत कर राशि दिलाने की गुहार लगाया था।

◆ थाना बुलाकर भगा देने का आरोप

आवेदक ने बताया कि पुलिस के द्वारा चोरी करने वाले अज्ञात लोंगो के विरूध्द एफआईआर दर्ज नही किया जा रहा है। यह भी बताया कि चुनाव के पहले थाने में चोरी करने वाले अज्ञात लोगों के विरूध्द एफआईआर दर्ज कराने के लिए बुलाया गया था,लेकिन चुनाव में व्यवस्तता का हवाला देते हुए भगा दिया गया था,उसके बाद 02 अगस्त को पुनः थाने में उक्त मामले को लेकर पीड़ित को बुलाया गया था किंतु वरिष्ठ अधिकारी नही होने का बात कहते हुए पुनः भगा दिया गया है।

◆ एसपी से किया था शिकायत

आवेदक ने उक्त घटना की शिकायत 09 जून को एसपी से किया था। आवदेक ने एसपी से किए गए शिकायत में जिक्र किया गया है कि कोतवाली थाना में चोरी होने के तत्काल बाद कोतवाली थाना में लिखित शिकायत एवं सीसी टीवी की वीडियो उपलब्ध कराया गया था उसके बाद भी आज दिनाँक तक चारी करने वाले की खोज नही कर पाएं है। आवेदक ने यह भी बताया कि बैंक से निकाली गई राशि के बारे में अपराधिक तत्वों को कैसे जानकारी लगती है,जो पीछा कर राशि चोरी कर फरार हो जाते है,यह सोचनीय विषय है। इनके द्वारा बैंक से पीछा करते हुए रास्ता में आम नागरिकों के साथ धमकी एवं मारपीट कर राशि छुड़ा ले जाते है। इस प्रकार की घटनाओं में पुलिस के द्वारा गंभीरता से जाँच एवं खोजबीन नही किये जाने के कारण चोरों का हौंसला बुलंद हो रहै है।

administrator, bbp_keymaster

Related Articles