◆ कलेक्टर रत्नाकर झा ने सोमवार को आयोजित समय-सीमा की बैठक में दिए उक्त निर्देश

डिंडौरी (रामसहाय ​मर्दन)। कलेक्टर रत्नाकर झा ने कहा कि गर्मी के मौसम में ग्राम पंचायतों की पेयजल समस्या को दूर करने के लिए पेयजल परिवहन कर जल आपूर्ति की जाए। उन्होंने कहा कि जिले की सभी नलजल योजना प्रारंभ रहे। विद्युत की लगातार जल आपूर्ति की जाए। हैण्डपंप खराब होने पर तत्काल दुरूस्त किया जाए। पेयजल परिवहन/जल आपूर्ति पर निगरानी रखने के लिए मैदानी अमले को जिम्मेदारी सौंपी की जाए। इस कार्य में लापरवाही बतरने वालों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाए। कलेक्टर श्री रत्नाकर झा बुधवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित समय-सीमा की बैठक में उक्त निर्देश दिए। इस अवसर पर अपर कलेक्टर अरूण कुमार विश्वकर्मा, मुख्यकार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्रीमती अंजू अरूण कुमार, संयुक्त कलेक्टर सुश्री रजनी वर्मा, जिला योजना अधिकारी ओ.पी. सिरसे, उप महाप्रबंधक जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र श्रीमती राधिका कुसरो, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग श्रीमती मंजूलता सिंह, जिला समन्वयक सर्व शिक्षा अभियान राघवेन्द्र मिश्रा, जिला परियोजना अधिकारी एनआरएलएम श्रीमती मीना परते सहित जिला एवं जनपद स्तरीय अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे। कलेक्टर रत्नाकर झा ने अमृत सरोवर अभियान अंतर्गत स्टॉप डेम/तालाब निर्माण कार्यां की समीक्षा की। उन्होंने उक्त निर्माण एवं मरम्मत कार्यां की मॉनीटरिंग करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर श्री झा ने जिले के सभी ग्रामों में 3 किलोमीटर तक सड़क किनारे वृक्षारोपण करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने इसके लिए विशेष कार्ययोजना तैयार करने को कहा है। कलेक्टर झा ने एनआरएलएम के माध्यम से मुनगा पाउडर तैयार करने के लिए प्रोसेसिंग यूनिट की तैयारियों के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने हेरीटेज मदिरा निर्माण ईकाई की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने निर्माण एवं वृक्षारोपण कार्य समय-सीमा में पूरा करने निर्देश दिए हैं। कलेक्टर झा ने जल जीवन मिशन की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने जिले के सभी जल जीवन मिशन के कार्यां को पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं।कलेक्टर झा ने आयोजित बैठक में सीएम हेल्पलाईन के लंबित प्रकरणों की समीक्षा की। उन्होंने सीएम हेल्पलाईन की शिकायतों का तत्काल निराकरण करने के निर्देश दिए। कलेक्टर झा ने इसी प्रकार से संबल योजना, आयुष्मान भारत कार्ड, पुष्कर धरोहर समृद्धि अभियान, जाति प्रमाण पत्र अभियान तथा कोविड-19 टीकाकरण की स्थिति की विस्तृत समीक्षा की और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। कलेक्टर रत्नाकर झा ने जिले में दुग्ध उत्पादन को बढावा देने के लिए स्व-सहायता समूहों के माध्यम से तैयार होने वाली दुग्ध डेयरी की समीक्षा की।

administrator, bbp_keymaster

Related Articles