डिंडौरी:- भ्रष्टाचार का आरोप लगा रोजगार सहायक हटाने ग्रामीणों ने कलेक्टर से लगाई मदद की गुहार…

डिंडौरी:- भ्रष्टाचार का आरोप लगा रोजगार सहायक हटाने  ग्रामीणों ने कलेक्टर से लगाई मदद की गुहार…

◆ रोजगार सहायक पर शासकीय योजनाओं का लाभ देने के नाम पर पैसा लेने का आरोप:-

डिंडौरी(रामसहाय मर्दन)| जिले के अमरपुर जनपद पंचायत अंतर्गत ग्राम पंचायत खरगहना के ग्रामीणों ने रोजगार सहायक कृष्णु सिंह ठाकुर को हटाकर दूसरे रोजगार सहायक को पदस्थ कराने की माँग को लेकर जनसुनवाई में शिकायत किया गया है। दिए गए शिकायत पत्र के मुताबिक रोजागर सहायक कृष्णु सिंह ठाकुर पूर्व में भ्रष्टाचार कर रहा था, जिसकी जाँच के दौरान शौचालय एवं अन्य निर्माण कार्यों में रोजगार सहायक को दोषी पाया गया था एवं जनपद पंचायत व जिला पंचायत से सेवा समाप्त कर दिया गया था,परन्तु रोजगार सहायक के द्वारा सेवा समाप्ति के पश्चात कमिश्नर जबलपुर से स्थगन आदेश लेकर पुन्ः ग्राम पंचायत खरगहना में रोजगार सहायक के पद पर कार्यरत है। जो पुनः रोजगार सहायक के द्वारा ग्राम के आम नागरिकों जॉबकार्ड आवास के किस्त एवं मस्टर मेढबंधान के मस्टर के विषय पर जानकारी लिया गया था, किंतु रोजगार सहायक ने जानकारी देने से इंकार कर दिया। रोजगार सहायक जानकारी देने के बजाय आमजनों के साथ अभद्र व्यवहार करते हुये ग्राम सभा से उठकर बाहर चला गया और बोलने लगा कि न मैं जानकारी दूंगा और नही किसी के काम करूंगा जिसको जहाँ लगे वहाँ शिकायत कर दो। इसी प्रकार 17 अगस्त 2022 को ग्राम पंचायत खरगहना के पोषक ग्राम भगनवारा में ग्राम सभा का आयोजन किया गया, जिसमें रोजगार सहायक अनुपस्थित रहा से प्रधानमंत्री आवास के फोटो अपलोड एवं, जिसको ग्राम सभा में अनुपस्थिति प्रस्तावित मस्टर जारी करने,शौचालय मेढबांधान स्वीकृति करने के नाम पर राशि लेता है। ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि रोजगार सहायक ने जिन व्यक्तियों के द्वारा राशि नहीं दिया जाता है उसे अपात्र कर योजना से वंचित कर दिया जाता है। इसके साथ ही रोजगार सहायक के द्वारा प्रधानमंत्री आवास में मजदूरी की राशि हितग्राही को न देकर अपने भाई माखन सिंह, पिता धन्नू सिंह एवं अपने चचेरे भाई मंगल सिंह, चाचा भद्दे सिंह के नाम पर मस्टर जारी कर मजदूरी का राशि आहरण कर रहा है, जिससे हितग्राहियों को राशि नही मिल पाती है। ग्रामीणों ने बताया कि 16 अगस्त 2022 को ग्राम पंचायत खरगहना में ग्राम सभा का आयोजन किया गया था, जिसमें ग्रामवासियों के द्वारा किया है। इसी प्रकार रोजगार सहायक 01 अगस्त 2022 16 अगस्त 2022 तक पंचायत भवन में अनुपस्थित रहा है और 16 अगस्त 2022 को पंचायत भवन में आकर 01 अगस्त 2022 से 15 अगस्त 2022 तक का फर्जी हस्ताक्षर उपस्थिति पंजी में किया गया है। आरोप है कि रोजगार सहायक के द्वारा स्थगन आदेश लाने के बाद लखन लाल सरैया शिक्षक, गंगाराम सरैया शिक्षक दोनों ही शासकीय शिक्षक के पद पर पदस्थ है, वर्तमान में दोनों ही शिक्षक सेवावृति हो चुके है वर्ष 2018-19 एवं 2019-20 में स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत शौचालय निर्माण की प्रोत्साहन राशि 12000-12000 हजार रूपये रोजगार सहायक अपने सगे भाई माखन सिंह है।

◆ बगैर प्रधानमंत्री आवास निर्माण कराए राशि जारी करने का आरोप:-

सप्लायर के नाम पर आहरण किया गया है। इसी प्रकार हितग्राही कृपाल सिंह पिता सुन्दर सिह, धनेश / रामकुमार एवं गोविंद/खोंझा के शौचालय का राशि अपने सगे भाई माखन सिंह के नाम पर राशि आहरण बगैर निर्माण कार्य किये कर लिया गया है। षिकायत कर्ताओं ने बताया कि रोजगार सहायक के द्वारा प्रधानमंत्री आवास में पात्र हितग्राहियों को अपात्र किया जाता है। अपात्र करने के संबंध में जनपद पंचायत में शिकायत किया गया था, शिकायत के उपरांत जनपद पंचायत स्तर से जॉच दल गठित कर जॉच कराया गया है। जिसमें जाँच के दौरान प्रधानमंत्री आवास के हितग्राही परसूराम / कालूराम, गुरूचरण / सूरज , लच्छू सिंह / कालूराम / ईश्वर प्रसाद / फुन्दीलाल को पात्र पाया गया है। इसी प्रकार रोजगार सहायक कृष्णु सिंह ठाकुर के द्वारा उपरोक्त पात्र हितग्राहियों को स्वयं का ऑटो वाहन, ट्रेक्टर गाडी पक्का मकान लिखकर अपात्र कर दिया गया था। रोजगार सहायक के द्वारा पक्षपात एवं पैसा न देने पर शासन के योजनाओं से वंचित कर दिया जाता है। रोजगार सहायक कृष्णु सिंह ठाकुर के द्वारा अपने पिता धन्नू सिंह ठाकुर के नाम से प्रधानमंत्री आवास स्वीकृति वर्ष 2020-21 में हुआ था, लेकिन आज दिनांक तक मकान का निर्माण कार्य नहीं कराया गया है और 130000 एवं मजदूरी की राशि 18000 बगैर निर्माण कार्य कराये किसी अन्य मकान का फोटो अपलोड कर राशि का भुगतान किया जा चुका है। ग्रामीणों ने रोजगार सहायक को तत्काल हटाकर ग्राम पंचायत खरगहना मय बसनिया से किसी दूसरे रोजगार सहायक को पदस्थ करने की माँग किया गया है।

 

editor

Related Articles