डिंडौरी| मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में विवाह से पहले प्रेगनेंसी टेस्ट के विरोध में महिला कांग्रेस ने राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन….

डिंडौरी| मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में विवाह से पहले प्रेगनेंसी टेस्ट के विरोध में महिला कांग्रेस ने राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन….

डिंडौरी(रामसहाय मर्दन)| मुख्यमंत्री कन्यादान योजना डिंडौरी में विवाह से पहले कन्याओं के पंजीयन के दौरान टेस्ट कराए जानें के विरोध को लेकर आज महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष श्रीमति संतोषी रामजी साहू एवं महिलाओं ने रैली निकाल कर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का पुतला दहन कर कलेक्ट्रेट परिसर में राज्यपाल के नाम तहसीलदार को ज्ञापन सौपकर शिवराज सरकार को बर्खास्त करने और अधिकारियों पर कार्यवाही करने की मांग की है।

दिए गए ज्ञापन में उल्लेख करते हुए महिला कांग्रेस जिला अध्यक्ष संतोषी राम जी साहू ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत सामूहिक विवाह का आयोजन कराकर और कन्याओं का कौमार्य परीक्षण/प्रेगनेंसी टेस्ट कराकर अपमानित कर रही है।अधिकारी बताए कि सिकिल सेल एनीमिया का टेस्ट ब्लड से होता है या फिर यूरिन से अधिकारियों द्वारा गाड़ासरई कस्बे में आयोजित सामूहिक विवाह में लगभग 200 कन्याओं का प्रेगनेंसी टेस्ट करवाया है।वही विधायक ओमकार मरकाम ने कहा कि किस नियम के तहत अधिकारी कन्याओं का प्रेगनेंसी टेस्ट करवा रहे है। प्रदेश की शिवराज सरकार को बर्खास्त कर दोषी अधिकारियों पर भी कार्यवाही की जानी चाहिए। ज्ञापन सौपने के दौरान संगनी उद्दे, तृप्ति परस्ते,मेदनी मरावी, कौशल्या कुशराम, सुमंत्री अयाम, सरला धारियाँ, प्रेमा साहू, पार्वती धुर्वे, रामवती विश्वकर्मा, प्रमिता सांडया, नीलम सैयाम, शांति बाई, कलिंदिया बाई, आदिवासी कांग्रेस जिलाध्यक्ष उमाशंकर सिंगराम, रामू मरावी, सुदामा यादव, राजेन्द्र ठाकुर, जावेद इकबाल, रामजी साहू, राधेलाल नागवंशी विनय सांई सहित महिला कार्यकर्ता मौजूद रही।

editor

Related Articles