(रामसहाय मर्दन) डिंडौरी| विश्व के आदिवासी समुदाय के द्वारा प्रत्येक वर्ष 9 अगस्त अंतर्राष्ट्रीय विश्व आदिवासी दिवस मनाया जाता है। आज के दिन आदिवासी समुदाय की उपलब्धियों और योगदानों को याद किया जाता है जो आदिवासी लोग पर्यावरण संरक्षण जैसे विश्व के मुद्दों को बेहतर बनाने के लिए कार्य करते हैं। यह पहली बार संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा दिसंबर 1994 में घोषित किया गया था, 1982 में मानव अधिकारों के संवर्धन और संरक्षण पर संयुक्त राष्ट्र कार्य समूह की मूलनिवासी आबादी पर संयुक्त राष्ट्र कार्य समूह की पहली बैठक का दिन। खासकर, इसे भारत के आदिवासियों द्वारा धूम धाम से मनाया जाता है, जिसमें रास्तों पर रैली निकाली और मंच में झामाझम कार्यक्रम मनाया जाता है।

इसी तारतम्य में आदिवासी दिवस के अवसर पर डिंडौरी विशाल रैली का आयोजन आदिवासी समुदाय द्वारा किया गया जिसमें विभिन्न पारंपरिक नृत्य दल के साथ की निकाली गई जिसमें सैला नृत्य आकर्षण केंद्र रही। रैली मुख्य मार्गो से होते हुए भाजपा कार्यालय पहुंची जहां भाजपा पदाधिकारियों के द्वारा आतिशबाजी कर पुष्पगुच्छ की वर्षा कर स्वागत किया। इस दौरान भाजपा जिला अध्यक्ष नरेंद्र सिंह राजपूत, जिला महामंत्री जय सिंह मरावी, अवध राज बिलैया, जिला उपाध्यक्ष सुशीला मार्को, अनुसूचित जाति जनजाति मोर्चा के जिलाध्यक्ष महेश धूमकेती, जिलाकार्यालय मंत्री पुनीत जैन, मंडल अध्यक्ष हेम सिंह राजपूत, पार्षद कुंवारिया मरावी, विधि प्रकोष्ठ संयोजक सुदील बरमैया, मंडल उपाध्यक्ष भागीरथ उरैती, आशीष सोनी, जनपद सदस्य राहुल पांडे, उदयभान ठाकुर, देवेंद्र पांडे, मानबहादुर सिंह सहित भाजपा कार्यकर्तागण उपस्थित रहे।

editor

Related Articles