जबलपुर: मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी ने आदिवासी बहुल क्षेत्र बिछिया में

जबलपुर: मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी ने आदिवासी बहुल क्षेत्र बिछिया में

ऊर्जीकृत किया 132 के.व्ही. सबस्टेशन:—

अब 50 किलोमीटर की जगह 200 मीटर लंबे फीडर से मिलेगी बिजली:—

जबलपुर। मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी ने मंडला जिले के आदिवासी बहुल क्षेत्र बिछिया में 15.2 करोड़ की लागत से 132 के.व्ही. सबस्टेशन और 27 करोड़ लागत से 132 केवी मंडला -बिछिया डबल सर्किट डबल स्ट्रिंगिंग लाइन स्थापित कर कुल 42.2 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से मंडला जिले की पारेषण क्षमता को मजबूती प्रदान की है। गत दिवस 132 के व्ही की 44 किलोमीटर लाइन और 50 एम.व्ही.ए. क्षमता के पावर ट्रांसफार्मर के साथ नये 132 के.व्ही. सबस्टेशन बिछिया को ऊर्जीकृत किया गया। इस सबस्टेशन के निर्माण से क्षेत्र के 316 गांवों के करीब 40 हजार विद्युत उपभोक्ताओं को अब उचित वोल्टेज की गुणवत्तापूर्ण विद्युत न्यूनतम व्यवधान के साथ मिल सकेगी।

दुर्गम इलाकों में घने जंगलों के बीच में से निर्मित की गई है लाईन
मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी के अति उच्चदाब निर्माण संकाय के मुख्य अभियंता इंजी. आर.के. खंडेलवाल ने बताया कि 132 के.व्ही. बिछिया सबस्टेशन के लिये मंडला से 132 के.व्ही. का फीडर लाना बेहद चुनौती पूर्ण था। दुर्गम इलाकों में घने और रिजर्व जंगलो के बीच करीब 44 किलोमीटर की डबल सर्किट लाईन का निर्माण 27 करोड की लागत से किया गया है। करीब 14 हेक्टेयर वन क्षेत्र में लाईन ले जाने के लिये वन विभाग से अनुमति प्राप्त करना पडी, इस पूरे निर्माण में 5.256 किलोमीटर का रिजर्व वन क्षेत्र भी शामिल है।

50 कि.मी. फीडर अब हो गया 200 मीटर
66 किलोमीटर की लाईन हुई 16 किलोमीटर
इस नये सबस्टेशन के बनने से क्षेत्र के विद्युत उपभोक्ताओं को बहुत लाभ होगा। बिछिया सब स्टेशन से 33 के.व्ही. के फीडरों के माध्यम से बिछिया, घुटास, कुदेला आदि क्षेत्रों को उचित गुणवत्ता की व्यवधान रहित बिजली उपलब्ध रहेगी |पहले बिछिया क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति 132 के व्ही सबस्टेशन मंडला से 50 किलोमीटर लंबे 33 के व्ही फीडर के माध्यम से हुआ करती थी इस सबस्टेशन के बनने से ये फीडर अब मात्र 200 मीटर का हो गया है। । इसी तरह पहले घुटास के लिये 66 किलोमीटर लंबा 33 के.व्ही. का फीडर था जो अब घट कर 16 किलोमीटर का रह जायेगा। इसी तरह 33 के.व्ही. कुदेला सबस्टेशन को 146 किलोमीटर लंबे फीडर के माध्यम से सप्लाई मिला करती थी जो अब घट कर 81 किलोमीटर हो गई है। इस फीडर के माध्यम से 203 गांवो के 22640 उपभोक्ताओं को विद्युत सप्लाई की जाती है|

मंडला जिले का चौथा अति उच्चदाब सबस्टेशन
132 के.व्ही. सबस्टेशन बिछिया मंडला जिले का चौथा अति उच्चदाब का सबस्टेशन है। इसके पहले मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी 132 के.व्ही. सबस्टेशन मंडला, 132 के.व्ही. सबस्टेशन मनेरी तथा 132 के.व्ही. सबस्टेशन नैनपुर के माध्यम से मंडला जिले में विद्युत आपूर्ति करती थी। इस नये सबस्टेशन के बनने से मंडला जिले की कुल ट्रांसफारमेशन क्षमता बढ़कर 250 एम.व्ही.ए. की हो गई है।
प्रदेश का 407 नंबर का अति उच्चदाब सबस्टेशन बिछिया मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी का 407 वें नंबर का अति उच्चदाब सबस्टेशन है। प्रदेश में 132 के.व्ही. के 307, 220 के.व्ही. के 86 तथा 400 के.व्ही. के 14 सबस्टेशन संचालित है|

सादर प्रकाशनार्थ

शशिकांत ओझा
जन संपर्क अधिकारी
मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी
जबलपुर

administrator, bbp_keymaster

Related Articles