◆ आदिवासी माँ बेटे ने की कलेक्टर से शिकायत:-

(रामसहाय मर्दन) डिंडौरी/शहपुरा | व्यवहार न्यायालय शहपुरा में पदस्थ सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी प्रमोद पटेल पर आदिवासी युवक को डराने धमकाने व अवैध वसूली के गम्भीर आरोप लगे हैं जिसकी शिकायत पीड़ितों ने कलेक्टर डिंडोरी से करते हुए प्रमोद पटेल के विरुद्ध दंडात्मक कार्रवाई करने की मांग की है , पीड़ितों ने अपनी शिकायत का विधिवत शपथ पत्र भी प्रस्तुत किया है व न्याय की गुहार लगाई है , प्राप्त शिकायत व जानकारी के अनुसार शहपुरा के ग्राम सचौली निवासी पीड़िता भूरी बाई धुर्वे ने कलेक्टर को दिए अपने शिकायती आवेदन में लिखा है कि मेरे से प्रमोद पटेल वकील साहब के द्वारा डेढ़ लाख रुपए की मांग करने तथा पैसे न दिए जाने पर मेरे पुत्र राकेश धुर्वे के विरुद्ध कार्यवाही कर नौकरी समाप्त करवा देने की धमकी दिए जाने पर कार्यवाही किए जाने हेतु निवेदन किया है कि मैं प्रार्थीया भूरी बाई धुर्वे पति स्वर्गीय मुलई सिंह धुर्वे निवासी ग्राम सचौली थाना शहपुरा जिला डिंडोरी मध्य प्रदेश की स्थाई निवासी हूं मेरे पति स्वर्गीय मुलई सिंह धुर्वे कृषि उद्यानिकी विभाग मंडला में माली के पद पर कार्यरत थे जिनकी सेवाकाल के दौरान वर्ष 2016 में मृत्यु हो गई थी मेरे व मेरी सभी पुत्र पुत्रियों की सहमति से मेरे छोटे पुत्र राकेश धुर्वे को अनुकंपा नियुक्ति प्रदान की गई है जो वर्तमान में मेरा पुत्र राकेश धुर्वे कृषि उद्यानिकी विभाग डिंडोरी में सहायक ग्रेड 03 के पद पर पदस्थ है मेरे दो और पुत्र अमर सिंह धुर्वे एवं नारायण सिंह धुर्वे है मेरी तीन पुत्रियां हैं जिनमे दो पुत्रियों का विवाह मेरे पति ने अपने जीवन काल में कर दिया था पति की मृत्यु के पश्चात मुझे प्राप्त हुई राशि से मेरी एक पुत्री अनीता और पुत्र राकेश धुर्वे का विवाह कर दी हूं शेष राशि से अपने पति की पैतृक भूमियों के सुधार कार्य करवा दी हूं मेरे दोनों पुत्र अपने परिवार के साथ प्रथक प्रथक निवास कर रहे हैं जो मेरी रहन-सहन व दवाई उपचार भरण पोषण की कोई खबर नहीं लेते हैं मैं अपने छोटे पुत्र राकेश धुर्वे के साथ निवास करती हूं मेरा छोटा पुत्र राकेश धुर्वे मेरा सभी प्रकार की भरण-पोषण वस्त्र इलाज व अन्य संसाधनों की पूर्ति करता है , आज दिनांक 19 मार्च 2022 को डिंडोरी वार्ड क्रमांक 10 स्थित मकान में प्रमोद पटेल शासकीय अधिवक्ता आया और बोला कि तुम्हारी बैंक की राशि तुम्हारा पुत्र राकेश निकालकर खर्च किया है जिसकी शिकायत मेरे पास आई है तुम अपने पुत्र राकेश से मुझे डेढ़ लाख रुपए दिलवाओ तब मैं पूरे केस को रफा दफा कर दूंगा एवं मेरे पुत्र राकेश को किनारे ले जाकर प्रमोद पटेल द्वारा बोला गया कि तुम मुझे 150000 दे दो तो तुम्हारे नौकरी को नहीं जाने दूंगा और आज दिनांक के 03 दिन पूर्व मेरे ग्रह ग्राम सचौली में प्रमोद पटेल आये और बोले तुम मुझे पैसा दो नहीं तो तुम्हारे भाई एवं बेटों से बैंक से पैसा आहरण की झूठी शिकायत करवाकर थाना में मामला दर्ज करवा जेल भिजवा दूंगा जिससे तुम्हारी नौकरी खत्म हो जाएगी और प्रमोद पटेल द्वारा मेरे पुत्र से बोला गया कि मेरा घर तानिया गैस एजेंसी शहपुरा के पास है आकर जल्दी मिल लेना मेरा पुत्र उसके घर जाकर मिला तो प्रमोद पटेल वकील डेढ़ लाख रुपए की मांग करता है एवं मेरे मोबाइल में लगातार पांच बार फोन लगाकर पैसों की मांग करता है मैं एवं मेरा पुत्र इतने पैसे की व्यवस्था करने में सक्षम नहीं है हम कम पढ़े-लिखे ग्रामीण आदिवासी लोग हैं प्रमोद पटेल द्वारा अपने शासकीय पद की धौंस देकर हमसे पैसा वसूली करना चाह रहा है पैसा न देने पर हमें झूठे केस में फंसा देने की धमकी दे रहा है जिससे मैं एवं मेरा पुत्र भयभीत है एवं प्रमोद पटेल द्वारा शहपुरा के ग्रामीण क्षेत्र में अन्य लोगों को भी प्रताड़ित कर अपने पद का धौंस जमाते हुए अवैध वसूली कर रहा है आवेदक ने अवैध वसूली कर प्रमोद पटेल शासकीय वकील के विरुद्ध कार्यवाही करते हुए दंडित करने की मांग की है।

◆अधिवक्ता संघ शहपुरा ने प्रस्ताव पास किया:-

शिकायत प्राप्त होने पर अधिवक्ता संघ शहपुरा के द्वारा सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी शहपुरा प्रमोद पटेल के विरुद्ध प्रस्ताव पास किया गया कि इतने जिम्मेदार पद पर रहते हुए ऐसा घृणित कार्य करना अत्यंत खेदजनक है जिसकी शिकायतें बार बार प्राप्त हो रहीं हैं अतः प्रमोद पटेल का स्थानांतरण अन्यत्र न्यायालय में करने के साथ ही उचित दंडात्मक कार्यवाही की जाए जिससे आमजन अकारण परेशान न हो।
पहले भी हो चुकी है शिकायतें-
व्यवहार न्यायालय शहपुरा में पदस्थ सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी प्रमोद पटेल के द्वारा आदिवासी क्षेत्र शहपुरा व मेहंदवानी में सीधे सादे ग्रामीणों को डराने धमकाने व अवैध वसूली करने के गंभीर आरोप पूर्व में भी कई बार लग चुके हैं जिनकी खबरें समाचार पत्रों में भी प्रकाशित हो चुकी हैं अतः इससे स्पष्ट होता है कि प्रमोद पटेल के द्वारा आदिवासी क्षेत्र में लगातार यह अवैध कार्य किया जा रहा है जिससे आदिवासी क्षेत्र के सीधे-सादे ग्रामीण परेशान हो रहे हैं जिस पर जल्द उचित कार्यवाही किया जाना आवश्यक है।

इनका कहना है- इस सम्बंध में शिकायत प्राप्त हुई है औऱ पूर्व में भी एडीपीओ शहपुरा प्रमोद पटेल के द्वारा अवैध लेन देन की शिकायतें समाचार पत्रों में प्रकाशित हुई हैं अतः अब इनका स्थानांतरण अन्यत्र किया जाना उचित होगा।

दयाराम साहू अध्यक्ष अधिवक्ता संघ शहपुरा

administrator, bbp_keymaster

Related Articles