डिण्डौरी:-भीषण जल-संकट बीच ग्राम पंचायत अझावार का ग्रामीणों पर तुगलकी फरमान जारी

डिण्डौरी:-भीषण जल-संकट बीच ग्राम पंचायत अझावार का ग्रामीणों पर तुगलकी फरमान जारी

◆ जनपद पंचायत डिण्डौरी अंतर्गत ग्राम पंचायत अझवार का मामला:-

◆ दो मटके से अधिक पानी नल से भरा तो होगी कार्रवाई:-

(रामसहाय मर्दन) डिण्डौरी। जनपद पंचायत डिण्डौरी के ग्राम पंचायत अझवार में आग उगलती गर्मी के साथ भीषण जल संकट गहराया हुआ है। जहा ग्रामीण किसी प्रकार से जद्दोजहद कर पेयजल की व्यवस्था कर रहे है तो वही ग्राम पंचायत के जिम्मेदार ग्रामीणों के लिए तुगलकी फरमान जारी कर रहे है कि अगर किसी ने दो मटके से अधिक पानी नल से भरा तो उनके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। वैसे तो हर साल ही गर्मी के मौसम में यहां जल संकट की स्थिति बनी रहती है लेकिन इस साल भीषण और प्रचंड गर्मी पड़ रही है जिससे जल संकट काफी ज्यादा गहरा गया है। वहीं लोग सुबह से ही पीने, नहाने धोने एवं दैनिक जरूरत के पानी के लिए भटकते रहते हैं। हैंडपंपों में भीड़ रहती हैं और पानी रिस-रिस कर निकलता है। लोग अपनी पारी का घंटो इंतजार करते है, इतने पर भी पानी ना मिले तो दूसरे जल स्रोतों का रुख कर ते है। इस साल नदी नालो में बने स्टॉप डेमो में भी पानी नहीं है।जिससे पालतू पशुओं, एवं जंगली जानवर भी पानी-पानी के मोहताज हो रहे हैं।चूंकि समय रहते इन जल स्रोतों का संवर्धन किया जाना चाहिए था, लेकिन ऐसा नहीं हो सका।जलपूर्ति के त्वरित विकल्प टैंकर आदि भी नहीं लगाए जा रहे हैं।जिससे ग्रामीणों को कुछ राहत मिल सके। अभी मुनादी कराई गई है। एक ग्रामीण एक समय में दो मटके ही पानी भर सकता है। नहीं तो कार्यवाही की जाएगी। संबंधितों को इस जल-संकट को गंभीरता से लेना चाहिए। जिससे सबको आसानी से पेयजल आपूर्ति हो सके। ऐसे विकल्पों पर विचार किया जाना चाहिए।

administrator, bbp_keymaster

Related Articles