जनपद पंचयत डिंडौरी अंतर्गत ग्राम पंचायत कनाईसांगवा का मामलाः-

डिंडौरी,रामसहाय मर्दन। आदिवासी बाहुल्य जिला डिंडौरी में आज भष्टाचार गबन चरम सीमा में पहुँच चुका हैं। ग्राम पंचायतों में जिम्मेदारों के द्वारा निर्माण कार्यों में धांधली करते हुए जमकर भष्टाचार किया जा रहा हैं। दरअसल ऐसा ही मामला जनपद पंचयत डिंडौरी अंतर्गत ग्राम पंचायत कनाईसांगवा का सामने आया है जहां सरपंच, सचिव और रोजगार सहायक के द्वारा हितग्राही मूलक कार्यों में अनियमितता बरतने सहित मृत व्यक्तियों से मनरेगा में मजदूरी करने के नाम फर्जी भुगतान किया गया । साथ ही ग्राम पंचायत सचिव गीत सिहं पाराशर के द्वारा स्वंय के खाता में लगभग तीन लाख रू. भुगतान कर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाते हुए मुख्य कार्यपालन अधिकारी को आवेदन देकर शिकायतकर्ता ने शिकायतों की जांच कराकर दोषियों के विरूध्द कार्रवाई किए जाने की मांग रखी है।

ये रहा पूरा मामला….

शिकायत पत्र के मुताबिक आरोप है कि ग्राम पंचायत कनाईसांगवा के सरपंच, सचिव गीत सिहं पाराशर और रोजगार के मिलीभगत से मनरेगा मेें मृत व्यक्तियों से मजदूरी करा फर्जी भुगतान किया जा रहा है आरोप है कि धनसिहं पिता प्रेमी की मौत हो चुका जिसको दिसंबर में 1140 रू. का भुगतान किया गया, तुलसीराम पिता चेतराम जाब कार्ड क्रं. 258 जिसकी मौत हो चुका उसके नाम से राषि का आहरण किया गया । वही ओमप्रकाश जाबकार्ड क्रं. 274 बी जो बिजली में लाइनमेन का कार्य करता है उसके नाम पर फर्जी तरीके से चार सप्ताह की मजदूरी का 5000 रू. का भुगतान किया गया और ग्राम पंचायत सचिव गीत सिहं पाराशर के द्वारा लगभग तीन लाख रू. का भुगतान अपने स्वंय के खाता में किया गया। जिसकी शिकायत भी मुख्यकार्य पालन अधिकारी से की गई लेकिन अब तक कोई जांच नहीं किया गया। वहीं अनियमितताओं के जांच न होने सरपंच, सचिव के हौसले बुंलादिया छु रही है।

अनियमितताओ की नहीं हो रही जांच….

जनपद पंचायत डिंडौरी के ग्राम पंचायत कनाईसांगवा में सरपंच, सचिव और रोजगार सहायक के द्वारा बरती गई अनियमितताओ जांच नहीं ही रही है। निर्माण कार्यों में अनियमितता, मृत व्यक्तियों के नाम पर मजदूरी का फर्जी भुगतान एवं घोटाले की जांच नहीं होना अधिकारीयों के कार्यप्रणाली पर भी सवाल खड़े हो रहे है। क्या उच्च अधिकारों के मिलीभगत से भ्रष्टाचार का खुला खेल खेला जा रहा है। क्या इन भ्रष्टाचारियों के विरुध्द कब कार्रवाई होगी ?

इनका कहना है “
उक्त मामले मैं जो भी अनियमितता हुई है उसकी जांच कर कार्रवाई की जाएंगी 

कशिश नायक सीईओ, जनपद पंचायत डिंडौरी 

editor

Related Articles