जबलपुर। थाना प्रभारी माढ़ोताल निरीक्षक रीना पांडे शर्मा ने बताया कि दिनाँक 09/03/2023 को रात्रि में प्रार्थी शिवकुमार रैकवार पिता स्व.रम्मूलाल रैकवार उम्र 39 वर्ष निवासी बुंदेला बाबा मंदिर के पास पुरानी बस्ती थाना माढ़ोताल जिला जबलपुर ने थाना उपस्थित होकर रिपोर्ट दर्ज कराया कि दिनाँक 09/03/2023 को शाम करीब 06:30 बजे की बात होगी मै गुटखा लेने श्रीराम डेरी के सामने दीक्षित कालोनी मोड़ पर आया था एवं श्रीराम डेरी के सामने दीक्षित कालोनी मोड़ पर मोहल्ले का रहने वाला सौरभ उर्फ नानची रैकवार एवं नई बस्ती के रहने वाले रामकुमार अहिरवार, नाबालिग बालक सुरेन्द्र (बदला हुआ नाम), सचिन झारिया किसी बात को लेकर झगड़ा कर रहे थे तभी नाबालिग बालक सुरेन्द्र (बदला हुआ नाम), व सचिन झारिया ने सौरभ उर्फ नानची रैकवार के हाथ पकड़ लिए और रामकुमार अहिरवार ने चाकू निकाला एवं सौरभ उर्फ नानची रैकवार को हत्या करने की नियत से उसके पेट व दाहिने जांघ में मार दिया सौरभ उर्फ नानची रैकवार को चाकू लगते ही खून निकलने लगा एवं जमीन पर गिर गया मैंने आवाज लगाया तो तीनों लोग मौके से भाग गये । घायल सौरभ उर्फ नानची रैकवार बेहोश था तब मैं तत्काल ऑटो में बैठाकर इलाज वास्ते स्वास्तिक अस्पताल ले गया था स्वास्तिक अस्पताल के डाक्टर साहब मैट्रो अस्पताल ले जाने के लिए बोले थे तब मैं मैट्रो अस्पताल लेकर गया। मैट्रो अस्पताल में डॉक्टर साहब द्वारा चेक करने बाद बोले कि हालत गंभीर है। मेडीकल ले जाओ फिर मैं मैट्रो अस्पताल से घायल सौरभ उर्फ नानची रैकवार को एम्बुलेंस से मेडीकल कालेज जबलपुर ले गया था । मेडीकल कॉलेज जबलपुर में डॉक्टर साहब द्वारा चेक करने के बाद सौरभ उर्फ नानची रैकवार को मृत घोषित कर दिया है। जिसके संबंध में आरोपी रामकुमार अहिरवार, नाबालिग बालक सुरेन्द्र (बदला हुआ नाम), सचिन झारिया के विरुद्ध अपराध क्रं.203/23 धारा 302,34 भादवि कायम कर विवेचना में लिया गया।

घटित हुई उपरोक्त घटना को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) के द्वारा मामले में आरोपीगणों की शीघ्र पतासाजी कर गिरफ्तारी किए जाने हेतु निर्देशित किया गया जो अति.पुलिस अधीक्षक (शहर-दक्षिण) श्री संजय अग्रवाल तथा उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय श्री तुषार सिंह के मार्ग निर्देशन में थाना प्रभारी माढ़ोताल निरीक्षक रीना पांडे शर्मा को हत्या के आरोपीगणों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त हुई है।

उक्त घटना घटित होने के पश्चात थाना प्रभारी माढ़ोताल के द्वारा टीम गठित कर मामले के फरार आरोपियों की तलाश पतासाजी हेतु लगाई गई जो मामले में दिनाँक 10/03/2023 को रात्रि में मुखबिर सूचना प्राप्त हुई कि दिनाँक 08/03/2023 को रात्रि में डेयरी के सामने सौरभ उर्फ नानची रैकवार को मारने वाला रामकुमार अहिरवार ग्रीनसिटी पुल के पास खड़ा है जो तत्काल मौके पर थाना प्रभारी माढ़ोताल के द्वारा पुलिस बल रवाना किया गया जो आरोपी रामकुमार पुलिस को देखकर भागने का प्रयास किया जिसे घेराबंदी करते हुए पकड़ा गया तथा पुलिस अभिरक्षा में लेकर पूछताछ की गई जिसने पुलिस को पूछताछ में बताया कि मेरे भाई अभिषेक अहिरवार के साथ सौरभ उर्फ नानची रैकवार ने दिनाँक 07/03/2023 को मारपीट किया था जिसके कारण मैने अपने साथियों के साथ मिलकर सौरभ उर्फ नानची रैकवार को मारा था। आरोपी रामकुमार अहिरवार ने घटना में प्रयुक्त बटनदार चाईना चाकू अपने घर में छिपाकर रखा हुआ था जो आरोपी से जप्त किया गया है।

मामले में दिनाँक 11/03/2023 को पुनः मुखबिर सूचना प्राप्त हुई कि मामले का अन्य व्यक्ति अपने निवास स्थान नई बस्ती माढ़ोताल में आया हुआ है जो तत्काल थाना प्रभारी माढ़ोताल के द्वारा पुलिस बल रवाना किया गया जो मामले का अन्य व्यक्ति घर पर उपस्थित मिला जिससे नाम पता पूछा गया। जिसने अपना नाम नाबालिग बालक सुरेन्द्र (बदला हुआ नाम) बताया। जिसे अभिरक्षा में लेकर पूछताछ की गई जिसने घटना दिनाँक 08/03/2023 को रामकुमार अहिरवार व सचिन झारिया के साथ मिलकर सौरभ उर्फ नानची रैकवार को मारा था।

मामले में अभिरक्षा में लिए गए रामकुमार अहिरवार पिता प्रकाश अहिरवार उम्र 20 वर्ष निवासी नई बस्ती आईटीआई थाना माढ़ोताल जबलपुर को माननीय न्यायालय तथा नाबालिग बालक सुरेन्द्र (बदला हुआ नाम) को किशोर न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है। मामले में अन्य आरोपी सचिन झारिया पिता हल्ले झारिया उम्र 19 वर्ष निवासी हरदुआ जिला दमोह हालपता पुरानी बस्ती थाना माढ़ोताल जबलपुर घटना दिनाँक से फरार है जिसकी तलाश पतासाजी हेतु पुलिस बल की टीम को आरोपी के निवास स्थान जबेरा जिला दमोह रवाना किया गया है।

उल्लेखनीय भूमिका– उपरोक्त कार्यवाही किए जाने में थाना प्रभारी माढ़ोताल निरीक्षक रीना पांडे शर्मा, उपनिरीक्षक नीलेश पोर्ते, उपनिरीक्षक आर.पी.अहिरवार, सउनि सुरेन्द्र बड़गैया, सउनि दयाशंकर सेन, प्रधान आरक्षक हिमलेश, आरक्षक सुदीप, महेन्द्र, शैलेष, आरक्षक शशिप्रकाश की सराहनीय भूमिका रही।

administrator, bbp_keymaster

Related Articles