◆जिले के सभी थाना क्षेत्रों में दी जाएगी डिवाइस

डिंडौरी (रामसहाय मर्दन)। यातायात पुलिस द्वारा लगातार नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों पर कार्रवाई करते हुए शहर में यातायात व्यवस्था बनाने में लगातार कार्यरत है जिले की यातायात व्यवस्था को और प्रभावी रूप से व्यवस्थित बनाने के लिए यातायात पुलिस को 20 नग ई-चालान डिवाइस मशीन मिल गई हैं जिस पर शीघ्र ही यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों का चालान डिवाइस से चलाने कार्रवाई की जाएगी। इस डिवाइस चालान मशीन को जिले के सभी थानों में दिया जाएगा जहां यातायात का उल्लंघन करने वालों का ई- डिवाइस से चालान काटा जाएगा। ई- डिवाइस के संचालन के लिए डिंडौरी पुलिस कंट्रोल रूम में प्रशिक्षण दिया गया जहां जिले के सभी क्षेत्रों के पुलिस अधिकारी कर्मचारी मौजूद रहे। मिली जानकारी अनुसार यातायात पुलिस अब शहर समेत जिलेभर में डिवाइस मशीन से वाहनों के चालान करेगी यह व्यवस्था जिले में शुरू हो रही है जिसके लिए डिवाइस मशीन भी आ गई है। चालक अगर दुपहिया वाहन चलाते बिना हेलमेट या मोबाइल पर बात करता मिला तो पुलिस अब डिवाइस मिशन से पहले फोटो खींचे की और फिर चालान करेगी इतना ही नहीं मशीन से बड़ा फायदा यह है कि वाहन चालक को चालान का भुगतान ऑनलाइन करना होगा या मशीन ऑनलाइन सिस्टम से जुड़ी होने के कारण वाहन मालिक का चालान भुगतान भी एटीएम या डेबिट कार्ड के जरिए तुरंत कर सकेगा। वहीं पुलिस नियम अनुसार जितना चालान बनाएगी मशीन से मिलने वाली पर्ची भी चालक को उपलब्ध होगी इस डिवाइस के कारण पुलिस चालक से अधिक रुपए भी नहीं वसूल सकेगी, वाहन चालक को चालान भरने के लिए थाने के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। ई- डिवाइस जिले के संबंधित थानों से जुड़ा रहेगा डिवाइस से रोजाना होने वाले ई चालान की जानकारी थाने के ऑनलाइन कंप्यूटर में दर्ज होगी

◆ हाई परफॉर्मेंस युक्त है यह एंड्रॉयड डिवाइस

थाना प्रभारी यातायात उपनिरीक्षक राहुल तिवारी ने बताया कि यह डिवाइस एंड्रॉयड डिवाइस है जिसमें 2 सिम का स्लॉट और एक एसडी कार्ड का स्लॉट है वाईफाई व एंड्राइड मोबाइल के सभी सिस्टम इस डिवाइस में मौजूद हैं, डिवाइस में बसों की टिकट निकालने की तरह पर्ची निकालने का सिस्टम भी इस डिवाइस में है इस डिवाइस के साइड में एटीएम में डिग्री है डेबिट कार्ड से भुगतान करने का भी सिस्टम दिया हुआ है। डिवाइस में 2GB रैम 8GB रोम 5 इंच का एचडी डिस्पले व पांच मेगापिक्सल का बैक कैमरा और 0.3 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा लगा हुआ है डिवाइस में कैमरा मोबाइल की तरह पीछे लगा है इसके साथ ही हाई स्पीड थर्मल प्रिंटर भी है यह डिवाइस 4G वाईफाई जीपीएस ब्लूटूथ से लैस है इस डिवाइस का ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड 7x है

◆ ऐसे किया जाएगा इस डिवाइस का प्रयोग

यातायात प्रभारी उपनिरीक्षक राहुल तिवारी ने बताया कि इस डिवाइस में वाहन का नंबर फिट करेंगे और इसके साथ इस डिवाइस में यह भी जानकारी भरी जाएगी कि वाहन चालक ने किन किन नियमों का उल्लंघन किया है जैसे हेलमेट नहीं है लाइसेंस नहीं है वाहन में लाइट इंडिकेटर काले शीशे और अन्य जानकारी डिवाइस में फीड करने के बाद स्लिप निकाल कर वाहन चालक को थमा दी जाएगी जिसके बाद वाहन चालक चालान की राशि को ऑनलाइन डेबिट कार्ड या नगद भी जमा कर सकता है।

◆ ई चालान डिवाइस रहेगा लिंक

यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों की पहले फोटो ली जाएगी जिसे डिवाइस में अपलोड किया जाएगा जिसके बाद वाहन चालक को ऑनलाइन क्रेडिट डेबिट कार्ड या नगद राशि चालान की देनी होगी ई-चालान डिवाइस में वाहन का रजिस्ट्रेशन नंबर दर्ज करने पर डिवाइस स्वता ही वाहन मालिक का पूरा विवरण डिस्प्ले में आ जाएगा। यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों का ड्राइविंग लाइसेंस निलंबन की कार्रवाई भी इसी मशीन से हो सकेगी प्रत्येक उल्लंघन करता वाहन चालकों का रिकॉर्ड इस डिवाइस में दर्ज रहेगा दोबारा उल्लंघन करने पर समन शुल्क का भुगतान ज्यादा भी करना पड़ सकता है।

◆ पुलिस कंट्रोल रूम में दिया प्रशिक्षण

पुलिस आधुनिकीकरण योजना के अंतर्गत अब डिंडोरी पुलिस पीओएस मशीन के द्वारा यातायात नियमों के उल्लंघन करने पर ऑनलाइन चालान करेगी इसके लिए डिंडोरी पुलिस को बीसी डिवाइस चालान मशीन प्रदान की गई हैं डिंडोरी पुलिस को पुलिस मुख्यालय के द्वारा 209 पीओएस मशीन प्रदान की गई हैं मशीन को संचालित किए जाने संबंधी प्रशिक्षण स्थानीय पुलिस कंट्रोल रूम में दिया गया बताया गया कि डिवाइस चालान मशीन को जिले के सभी थानों में प्रदान किया जाएगा अब यातायात का उल्लंघन करने वाले चालकों की चालानी कार्यवाही इसी डिवाइस मशीन के माध्यम से ऑनलाइन की जाएगी इस डिवाइस को ऑपरेट करने के लिए पुलिस कंट्रोल रूम में प्रशिक्षण आयोजित किया गया इस प्रशिक्षण में श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय संजय सिंह एवं जिले के समस्त थाना प्रभारी एवं कर्मचारी उपस्थित हुए।

◆ ऑनलाइन रहेगा रिकॉर्ड

ई- डिवाइस चालान मशीन से चालान काटे जाने पर इसका डाटा सुरक्षित रहेगा इससे यह भी पता चल जाएगा कि वाहन चालक के द्वारा कितनी बार एवं किन यातायात नियमों का उल्लंघन किया गया है उसके हिसाब से उस वाहन चालक का यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर ई चालान काटा जाएगा।

administrator, bbp_keymaster

Related Articles