(साईडलुक विशेष) तत्कालीन एआरटीओ संतोष पाल पर किसकी बनी है कृपा?

(साईडलुक विशेष) तत्कालीन एआरटीओ संतोष पाल पर किसकी बनी है कृपा?
6 माह बाद भी ईओडब्ल्यू पेश नहीं कर पाया आय से अधिक संपत्ति मामले की रिपोर्ट…
जबलपुर, नवनीत दुबे। सर्वविदित है जबलपुर के तत्कालीन आरटीओ संतोष पाल और उनकी पत्नी रेखा पाल पर आय से अधिक संपत्ति होने के मामले में ईओडब्ल्यू ने कार्रवाई की थी जिसमें राजसी ठाठ बाट से परिपूर्ण जीवन जीने के आदी संतोष पाल को आरोपी बनाया गया था, हास्यास्पद पहलू ही था कि ईओडब्ल्यू के छापे मार कार्रवाई से पहले ही संतोष पाल को विभाग के ही किसी विभीषण ने छापे की जानकारी दे दी थी, जिसके चलते पाल साहब ने आधा माल इधर से उधर कर दिया था यह चर्चा तेजी से फैली थी? अब जानकारी किसने दी यह छापा मारने वाले विभाग के लोग ही जाने, विडंबना कहें या दुर्भाग्य की अपने रसूख और स्टाइलिश जीवन शैली के साथ ही जोरदार अधिकारी के रूप में पहचान बनाने वाले पाल साहब की जो संपत्ति उजागर हुई थी। वह शासकीय पद के रसूख तले भ्रष्टाचार की दास्तां बयां कर गई थी लेकिन आश्चर्य की बात है कि इतने सब सबूत मिलने के बाद भी पाल साहब पर कठोर कानूनी कार्यवाही नहीं हुई? तो वही आय से अधिक संपत्ति के मामले में आरोपी संतोष पाल की जांच रिपोर्ट 6 माह बाद भी माननीय उच्च न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत नहीं की गई जिस पर याचिकाकर्ता धीरज कुकरेजा ने माननीय न्यायधीश की युगल पीठ से इस मामले में भी ईओडब्लू की लचर कार्यप्रणाली को कटघरे में ला खड़ा कर दिया है, जिस पर माननीय न्यायालय ने जिम्मेदार विभाग को जल्द से जल्द जांच रिपोर्ट उपलब्ध कराने आदेशित किया है, ईओडब्ल्यू कि इस लचर कार्यप्रणाली को लेकर चर्चा हो रही है की किसी सियासतई सूरमा का कृपा पात्र इतने बड़े भ्रष्टाचार के मामले में भी कानूनी कार्यवाही से बचा हुआ है, और संबंधित जिम्मेदार विभाग किसके दबाव में हीला हवाली कर रहा है ?
administrator, bbp_keymaster

Related Articles