जबलपुर, सत्यजीत यादव। उखरी सब स्टेशन से जुड़े स्टेट बैंक कालोनी सहित लगभग 24 कालोंनियों में लगातर बिजली उपभोक्ता बार-बार बिजली जाने और वोल्टेज डाउन की परेशानी झेलने मजबूर हैं। वहीं इलाके के कई घरों में क्षमता से ज्यादा बिजली बिल आने से भी दुखी है। लोगों का कहना है कि बिजली के बिल लगातार बढते जा रहे हैं। उनका आरोप है कि घर के बाहर बिजली के ​मीटर लगे होने से मीटर खपत से ज्यादा तेज़ भाग रहे हैं, और उनकी सुनने वाला भी कोई नहीं है। आलम यह है कि कई लोगों की तंख्वा से दुगना तो बिजली बिल आ रहा है। व्यापरियों के आय से अधिक बिजली बिल देख चिंता-फिकर में डूब रहे हैं कि अब घर कैसे चलायें बच्चों को कैसे पढायें। विभाग द्वारा अपमानित महसूस कर कर्ज लेकर भी बिजली बिल चुकाने को मजबूर हैं।

वहीं विभाग से सम्पर्क करने पर कहा जाता है कि गर्मी में पंखा, कूलर चलने से यह बिल आया है। मजे की बात तो यह है कि जिनके पास मात्र 140 यूनिट की बिजली जली है, वो भी भारी भरकम बिजली के बिल भरने मजबूर हैं।

जमकर चल रही वसूली
जिस क्षेत्र में इमानदारी से बिजली के बिल भरे जाते हैं। उन क्षेत्रों में प्रतिष्ठित परिवारों को एक महीने बिजली का बिल देर से भरने पर मुजरिमों की तरह नोटिस हाथ में पकड़ाकर फोटो खीचीं जा रही है। वहीं कई लोगों ने बताया कि कई क्षेत्रों में लाईनमैन अगर किसी की बिजली काटने खम्बें पर चढने की कोशिष करे तो उसकी जमकर धुनाई होने के पूर्व में रिकार्ड भी बन चुके हैं।

बेईमानों का बकाया भी भरते हैंं ईमानदार उपभोक्ता !
गौरतलब है कि चर्चाओं का बाजार इन बातों से गरम है कि कई इलाकों में बिजली चोरी होने व पावर लास से होने वाला नुकसान ईमानदारी से बिल भरने वाले उपभोक्ताओं के उपर ही डाल दिया जाता है। यहीं नहीं सारी सख्ती केवल इन ही क्षेत्रों में होती है। ईमानदार उपभोक्ता ही बेईमान लोगों के द्वारा बिजली कम्पनी को होने वाले नुकसान की भरपाई भी करते हैं।

administrator, bbp_keymaster

Related Articles