जबलपुर। गोरखपुर तहसील में एसडीएम और तहसीलदार की मनमानी देखने को मिल रही है, यह आरोप मध्य भारत मोर्चा ने लगाया है कि मोर्चा के सदस्यों का कहना है कि तीन सालो से अनेकों शिकायतें अवैध प्लाटिंग को लेकर की जा रही है, जिसमे एक आदिवासी की जमींन का जनरल में नामान्तर कराकर किसी ओर को बेचने और ग्वारीघाट नियम के विरुद्ध तीन सौ मीटर में सरकारी जमीन पर अवैध निर्माण की शिकायत जो कई बार की गई इन शिकायतों पर अधिकारियों की भू—माफियाओ से साठ—गांठ के चलते कोई कार्यवाही न होने से मोर्चा के सदस्यों द्वारा एसडीएम और तहसीलदार जो कि तीन साल से ज्यादा समय से यहाँ पदस्य है, इनके खिलाफ नारेबाजी कर कार्यालय का घेराव किया और जल्द की गई, शिकायतों पर कार्यवाही करने की मांग की गई। मोर्चा के पदाधिकारियों ने कहा कि कार्यालय में नियमों की अनदेखी की जा रही है, लोग सुबह से अधिकारियों के इन्तेजार में बैठे रहते है ओर अधिकारी अपने मन के मुताबिक 2 बजे 4 बजे 5 बजे आते हैं और निकल जाते हैं वहीं लोगों को सारा दिन बैठना पड़ता है। इसमे भी सुधार होने चाहिए।

इस दौरान मोर्चा अध्यक्ष सौरभ यादव, आशीष मिश्रा, बल्लू पटेल, राहुल अवस्थी, शिवम अहिरवार, निखिल राठौड़, राजा, अब्दुल कय्यूम, असलम चिस्ती, गुलाम, राहुल अहिरवार, कपिल, अंकित सिंह, सेख सहीद, सहबाज़ उपस्थित रहे।

administrator, bbp_keymaster

Related Articles