समरसता की रंगरस यात्रा से स्थानीय दिग्गजों की दूरी के क्या मायने?

समरसता की रंगरस यात्रा से स्थानीय दिग्गजों की दूरी के क्या मायने?

जबलपुर (नबनीत दुबे)। बीते दिन संस्कारधानी में समरसता सेवा संगठन द्वारा रंग पर्व के पावन अवसर पर रंगरस यात्रा का आयोजन किया गया, यात्रा छोटा फुहारा से प्रारंभ हुई ओर संस्कारधानी के प्रमुख मार्गों में रंग, गुलाल, अबीर, पुष्प की वर्षा करते हुए डी.एन.जैन कॉलेज प्रांगण में वृहद आयोजन के बीच सम्पन्न हुई। मुद्दे की बात पर आते है संस्कारधानी में संभवतः प्रथम बार इस तरह के आयोजन का प्रारंभ समरसता संगठन द्वारा किया गया, जिसके सिरमौर संगठन के अध्यक्ष संदीप जैन गुड्डा है। इतनी धूमधाम से संत समाज की अगुवाई में इस तरह के कार्यक्रम का होना चर्चा का विषय तो बना ही है साथ ही संदीप ओर उनकी टीम की समूचे शहर में प्रशंसा हो रही है, लेकिन समूचे कार्यक्रम में एक बात कौतूहल का विषय बनी हुई है जिसे संस्कारधानी वासियों के साथ ही जमींनी कर्मठ भाजपाई चटकारे के साथ चुटकी ले रहे है? वह बात ये है कि इस रंगरस यात्रा में स्थानीय दिग्गज भाजपा के जिनमें नगर अध्यक्ष प्रभात साहू, उत्तर मध्य के विधायक अभिलाष पांडेय, विधायक इंदु तिवारी, केबिनेट मंत्री राकेश सिंह, सांसद प्रत्याशी आशीष दुबे के साथ ही भाजपा पार्षद जो विधायक टिकिट की दौड़ में थे व अन्य स्थानीय भाजपाई दिग्गज यात्रा में नदारद ही नजर आए? हालांकि ये भी संभव है कि अपनी अपनी व्यस्तता के कारण शामिल न हो पाए हो, या ये भी हो सकता है कि रंगरस यात्रा के आयोजक संदीप जैन की बढ़ती प्रतिष्ठा कहीं न कहीं इन माननीयों के हृदय को कचोट रही हो? एक प्रमुख पहलू ये भी हो सकता है विशेषतः उत्तर मध्य विधायक अभिलाष पांडेय व सांसद प्रत्याशी आशीष दुबे का इस आयोजन से दूरी बनाने का की बीते दिन शुक्रवार था जिसे जुमा भी बोला जाता है अब ऐसे में चुनाव प्रचार में जनसमर्क के दौरान नजर से नजर मिलाकर इन हजरात से वोट भी तो मांगना है? खैर सियासत में हर कदम फूंक—फूंक कर रखना पड़ता है, खैर छोड़िए लेकिन हां कानाफूसी की इस फिजा में ऊड़ती—ऊड़ती ये बातें भी सुनने में आई है कि अभिलाष का इस यात्रा से दूरी बनाना पांडेय जी के चुनावी जनसम्पर्क में जी जान से जुटे समर्थकों को नागवार गुजरा तो वहीं आशीष दुबे का भी शामिल ना होना उसी शुक्रवार के तारतम्य से जोड़ कर देखा गया और जितने मुह उतनी बाते भी हुई, हालांकि रात्रि के समय आयोजन स्थल पर आशीष दुबे सहित कई अन्य दिग्गज पहुचे थे, क्योंकि अपनी उपस्थिति दर्ज करानी थी, वैसे ये कहना अतिश्योक्ति नहीं होगा कि समरसता संगठन और भाजपा एक सिक्के के ही पहलू है, अंततः इस बात का उल्लेख भी आवश्यक है कि समरसता संगठन के अध्यक्ष संदीप जैन गुड्डा भाजपा के कर्मठ, निष्ठावान, समर्पित सिपाही है लेकिन विडंबना ही कहेंगे कि ऐसे जमींनी जनप्रिय कार्यकर्ता की अनदेखी की जा रही है, हालांकि इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता है कि गुड्डा को बहुत ही जल्द कोई बड़ा दायित्व सौंपने की तैयारी आलाकमान द्वारा की जा रही हो?

administrator, bbp_keymaster

Related Articles