डिण्डौरी (रामसहाय मर्दन)। जनपद पंचायत डिंडौरी अंतर्गत ग्राम पंचायत डाँड़ बिछिया पंच वार्ड क्रमांक 6 निवासी। महिला रामप्यारी ने सरपंच, सचिव और रोजगार सहायक पर भारी भ्रष्टाचार करने का आरोप लगाते हुए कलेक्टर से शिकायत की है। दिये गई शिकायत आवेदन में उल्लेख किया गया है कि ग्राम पंचायत में बैठे जिम्मेदारों के द्वारा लगभग 6 वर्षों से ग्राम सभा नहीं लगाया जा रहा है और सरपंच, रोजगार सहायक और सचिव के द्वारा सभी पंचों का फर्जी हस्ताक्षर कर प्रस्ताव बनाकर मनमानी किया जा रहा है वही पूछने पर ऑनलाइन प्रस्ताव किया जाता है कहकर टाल दिया जाता है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि रोजगार सहायक गजेंद्र बिलावर व उसके बड़े भाई राजेश बिलगार दोनों शिक्षक के लड़के हैं और दोनों सरकारी नौकरी कर रहे हैं वर्ष 2014 में अपने 2 नाम से मुख्यमंत्री आवास बना चुके हैं। इसके बावजूद रोजगार सहायक अपने और अपने भाई की पत्नी सुलोचना और गोमती बाई के नाम से प्रधानमंत्री आवास 2019-20 में बनवा लिया गया है जबकि राजेश बिलागर लैंप कुकर्रामठ में सेल्समैन के पद में पदस्थ होते हुए भी गरीबी रेखा का राशन कार्ड बनवाकर राशन ले रहा है। इसी प्रकार ग्राम के अन्य लगभग 200 लोगों को दोहरा लाभ देने के लिए लाखों-करोड़ों रुपए की कमाई कमीशन लेकर कर रहा है। शिकायतकर्ता महिला का आरोप है कि भ्रष्टाचार करने में जनपद पंचायत के अधिकारी व समन्वयक शामिल है। साथ ही ग्राम पंचायत के किसी भी काम को अपने सगे संबंधियों को कमीशन लेकर ठेका दिया जाता है जिसके द्वारा घटिया व गुणवत्ता हीन काम करवाया जाता है जो कि कुछ ही दिनों में खराब हो जाता है शिकायतकर्ता ने भ्रष्टाचार करने वाली सरपंच, सचिव और रोजगार सहायक के द्वारा कराए गए कार्यों की उच्च स्तरीय जांच करा दोषी पाए जाने पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है।

administrator, bbp_keymaster

Related Articles