(रामसहाय मर्दन) डिंडौरी | सोमवार को कार्यपालन यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग शिवम सिन्हा की तकनीकी टीम ने डिंडोरी नगर की विभिन्न बसाहट में पहुंच नगर परिषद द्वारा प्रदाय किये जाने वाले जल के नमूनों का फील्ड टेस्ट किट (FTC)के माध्यम से गुणवत्ता परीक्षण किया गया और लोगों को जल गुणवत्ता के प्रति जागरूक भी किया गया। जल परीक्षण FT किट के माध्यम से 8 पैरामीटर की जांच की गई।इस दौरान जल में बैक्टीरिया टेस्ट भी किया गया।परीक्षण में PH 8.5, फ्री क्लोरीन 0 मिली ग्राम प्रति लीटर,कठोरता 250 मिलीग्राम प्रति लीटर ,क्लोराइड 100 मिलीग्राम प्रति टर,आयरन 0 मिलीग्राम प्रति लीटर,नाइट्रेट 0 मिलीग्राम प्रति लीटर, फ्लोराइड 0.5 मिलीग्राम प्रति लीटर दर्ज किया गया है।जिसने क्लोरीन की मात्रा तय मापदंडों से कुछ कम पाई गई है।जिसके सुधार हेतु नगर परिषद को निर्देशित किया गया है।बताया गया है कि जीवाणु परीक्षण के परिणाम बुधवार तक उपलब्ध होंगे।

◆ (शाहपुर सचिव को समझाई जल शोधन प्रक्रिया)

शाहपुर ग्राम में गंदे पानी की सप्लाई की शिकायत मिलने पर PHE के अमले ने ग्राम शाहपुर में चेक डैम से पानी लिफ्ट करके फिल्टर प्लांट से शोधन योजना की जानकारी ली और मौके पर पहुंच पाया कि पंचायत द्वारा एलम (फिटकिरी) एवं ब्लीचिंग पाउडर का उपयोग नही किया जा रहा था और नदी के पानी का बगैर शोधन किये गांव में जल आपूर्ती की जा रही थी।जिसके मद्देनजर तत्काल पंचायत को निर्देशित किया गया कि जल शोधन उपरांत ही आपूर्ति सुनिश्चित की जावे।PHE अमले ने पंचायत सचिव को जल शोधन की पूरी प्रक्रिया समझा कर व्यवस्थित पेयजल हेतु तकनीकी मार्गदर्शन भी दिया है।

administrator, bbp_keymaster

Related Articles