एमपी: मप्र नर्सिंग काउंसिल की रजिस्ट्रार के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए कारण बताओ नोटिस, मान्यता से जुड़े सभी रिकॉर्ड एक माह में उपलब्ध कराने के निर्देश

एमपी: मप्र नर्सिंग काउंसिल की रजिस्ट्रार के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए कारण बताओ नोटिस, मान्यता से जुड़े सभी रिकॉर्ड एक माह में उपलब्ध कराने के निर्देश

जबलपुर। मध्यप्रदेश राज्य सूचना आयोग ने नर्सिंग काउंसिल को निर्देश दिए हैं कि अपीलार्थी अधिवक्ता विशाल बघेल को नर्सिंग कॉलेजों की मान्यता से जुड़े सभी रिकॉर्ड उपलब्ध कराओ। आयोग ने इसके लिए काउंसिल को एक माह की मोहलत दी है।
लॉ स्टूडेंट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष विशाल बघेल ने बताया कि उनके द्वारा सितम्बर 2021 में नर्सिंग काउंसिल में एक आरटीआई लगाकर मध्यप्रदेश में खुले सभी नर्सिंग कॉलेजों द्वारा वर्ष 2020-21 की मान्यता हेतु प्रस्तुत आवेदन और अन्य अभिलेख मांगे थे। काउंसिल द्वारा जानकारी नहीं देने पर संचालक चिकित्सा शिक्षा मप्र के समक्ष प्रथम अपील प्रस्तुत की गयी थी। जानकारी प्रदान करने के आदेश के बावजूद रजिस्ट्रार नर्सिंग काउंसिल ने रिकॉर्ड नहीं दिए। इसके बाद आयोग में सेकेण्ड अपील पेश की गई। आयोग ने उक्त दस्तावेज उपलब्ध कराने के साथ-साथ मप्र नर्सिंग काउंसिल की रजिस्ट्रार सुनीता सीजू के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

administrator, bbp_keymaster

Related Articles