जबलपुर। अगर हमें वार्तालाप की कला का ज्ञान है तो जीवन में हमारी सफलता सुनिश्चित रहती है। हम किसी भी क्षेत्र में कार्यरत हों हम अपनी संयमित एवं विनम्रता पूर्वक भाषा शैली से सबको प्रभावित करते हैं। जब भी किसी से बात करें तो सर्वप्रथम सामने वाले की बात को पूरा सुने फिर अपनी बात कहें। जब भी बात करें सरल सहज भाव से मुस्कुराते हुए विनम्रता पूर्वक बात करें। अगर कोई गुस्से में है तो बेहतर होगा कि उस समय उस व्यक्ति से कोई महत्वपूर्ण बात ना की जाये। जिस विषय में जानकारी ना हो तो उस विषय पर कुछ बोलने से बचें। कभी किसी से बहस ना करें बल्कि सहजता से विनम्रता पूर्वक तर्कसंगत उत्तर दें, इत्यादि। वार्तालाप के ऐसे कई टिप्स गोकलपुर स्थित बाल संप्रेषण गृह के बच्चों को मोटीवेटर श्री राकेश गुप्ता के द्वारा दिये गये जिससे वे अपनी कम्यूनिकेशन स्किल को और बेहतर करके जीवन में सफलता प्राप्त कर सकें।

कम्यूनिकेशन स्किल वर्कशॉप में संस्कार जनसेवा समिति के अध्यक्ष, समाजसेवी श्री राकेश गुप्ता, अधीक्षिका श्रीमती साधना तिवारी, अरूण बुधोलिया, अनुज शर्मा, हामिद खान इत्यादि जन उपस्थित थे।

administrator, bbp_keymaster

Related Articles